झांकी

24 02 2010

12 साल का मोइन अपने अब्‍बू के साथ बडी जिद करने के बाद राजपथ 26 जनवरी की झांकी देखने पहुंचा. उसको पूरा कार्यक्रम मजेदार लगा. सबसे आकर्षक लगी विभिन्‍न राज्‍यों और मंत्रालयों की झांकियां.

”अब्‍बू ये क्‍या है?” हिमाचल प्रदेश की झांकी देखकर उसने पूछा.

”बेटा ये हिमाचल प्रदेश की झांकी है” अब्‍बू बोला

”झांकी क्‍या होती है?”

”झांकी….. यानी किसी जगह की झलक…. यानी इससे हम अंदाजा लगा सकते हैं कि वह राज्‍य कैसा होगा? झांकी उसकी तस्‍वीर पेश करती है.” अब्‍बू ने पूरी कोशिश कर ‘झांकी’ को परिभाषित किया.

कुछ देर बाद दिल्‍ली की झांकी आई. अब्‍बू ने मोइन को बताया कि यह दिल्‍ली की झांकी है.

”लेकिन यह तो अधूरी है…” मोइन ने परेशान होते हुए कहा, ”इसमें हमारी झुग्‍गी की तस्‍वीर नहीं है”

Advertisements

क्रिया

Information

3 responses

22 03 2010
kratika

bahut acchi hai!!!
bal maan par kitana prbhav padta hai in sab baato ka, ye sochne ka visaye hai.

26 01 2011
Kranti Chamar

bahut hi sateek manobhavo ko kalam ke jariye aaone safalta purvak ukera hai . thanx very much,,,,,,,,,,,,,aise hi pure BHARAT mw se hum DALITO ki jhalak gayab hai,,,,,,,,,,,,,,

11 02 2011
anoop

ek sanzida tippani, ek maasoom paatr ki zubaan se

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s




%d bloggers like this: